top of page
Search
  • Writer's pictureMeenakshi Gupta

Rahu shanti

राहु शांति के लिए उपाए (बिना झंझट वाले) -


राहु अगर आपकी कुंडली के-

पहले भाव में हो - तो गेहूं का आटा या गुड़ मंदिर में दान करें.

दुसरे भाव में - सरसों के तेल का दान करे। ससुराल से कोई बिजली का सामान न लें.

तृतीया भाव में - ब्राह्मण को कम्बल दान करें.

चतुर्थ भाव में - ४०० ग्राम साबूत बादाम गंगाजी में प्रवाहित करें. माँ की सेवा करें.

पंचम भाव में - चांदी का ठोस हाथी बनवाकर घर में रखें.

षष्ठ भाव में - नीला वस्त्र दान करें. भाई से प्रेम करें.

सप्तम भाव में- सात नारियल शनिवार के दिन नदी में प्रवाहित करें.

अष्टम भाव में - बादाम का दान करें. दक्षिण दिशा की दीवाल के पास चूल्हा स्थित नहीं हो.

नवम भाव में - प्रतिदिन मंदिर जाएँ. किसीसे लड़ाई झगड़ा न करें. पत्नी की सेवा करें. रजाई गद्दा दान करें.

दशम भाव में - नंगे सिर न घूमे, नीले काले वस्त्र न पहने. १० अंधे लोगों को खाना खिलाएं.

एकादश भाव में - ब्राह्मणों की सेवा करें.

द्वादश भाव में - रसोई में बैठकर खाना खोएं. चाक़ू दान करें.


इसके अलावा General Remedies जो हर किसी को करनी चाहिए राहु के लिए-

प्रतिदिन जप करना, मछलियों को आटे की गोली खिलाना, गाय को चारा खिलाना, सरस्वतीजी की आराधना।

P.S Any remedy should be done only after holistic analysis of the chart


41 views0 comments

Recent Posts

See All

Rahu Conjunctions

Rahu is Maya. It is our subconscious mind. This is an energy zone created by Moon. A creation of mind. That's why it is assigned with...

Commentaires


bottom of page